ADVERTISEMENT

Tag: Chetan Anand Hindi Gazal

चेतन आनंद : वक्त की सियासत के क्या अजब झमेले हैं Chetan anand Hindi Ghazal: Waqt ki siyasat ke kya ajab jhamele hai

चेतन आनंद : वक्त की सियासत के क्या अजब झमेले हैं

वक़्त की सियासत के, क्या अजब झमेले हैं। आइने तो ग़ायब हैं, चेहरे अकेले हैं।।   अब बतायें क्या तुमकोa दोस्तों की साजिश ने उस तरफ के ग़म सारे इस ...

चेतन आनंद : कभी रहे हम भीड़ में भइया, कभी रहे तन्हाई में, Chetan anand Hindi Ghazal: kabhi rahe ham bheed mai bhaiya kabhi rahe tanhai mai

चेतन आनंद : कभी रहे हम भीड़ में भइया, कभी रहे तन्हाई में,

कभी रहे हम भीड़ में भइया, कभी रहे तन्हाई में, सारी उम्र गुज़ारी हमने रिश्तों की तुरपाई में।   कभी बांसुरी को समझाया, ढपली के रोके आंसू, कभी संभाला तबले ...

चेतन आनंद : इन सियासतदानों के घर में भी ठोकर मारकर, Chetan anand Hindi Ghazal: In siyasatdano ke ghar mai bhi thokar markar

चेतन आनंद : इन सियासतदानों के घर में भी ठोकर मारकर

इन सियासतदानों के घर में भी ठोकर मारकर, क्या मिलेगा बेवजह कीचड़ में पत्थर मारकर।   तोड़ लो जितना इन्हें, ये सच ही बोलेंगे सदा, खुद ख़ता खा लोगे, आईने ...

चेतन आनंद : पहले तो होते थे केवल काले, नीले, पीले दिन, Chetan anand Hindi Ghazal: Pahle to hote the kaval kale neele peele din

चेतन आनंद : पहले तो होते थे केवल काले, नीले, पीले दिन,

पहले तो होते थे केवल काले, नीले, पीले दिन, हमने ही तो कर डाले हैं अब सारे ज़हरीले दिन।   मां देती थी दूध-कटोरी, पिता डांट के सँग टाॅफी, बड़े ...

चेतन आनंद : अजब अनहोनियां हैं फिर अंधेरों की अदालत में Chetan anand Hindi Ghazal: Ajab anhoniya hai fir andhero ki adalat mai

चेतन आनंद : अजब अनहोनियां हैं फिर अंधेरों की अदालत में

अजब अनहोनियां हैं फिर अंधेरों की अदालत में उजाले धुन रहे हैं सिर अंधेरों की अदालत में।   पुजारी ने बदल डाले धरम के अर्थ जिस दिन से सिसकता है ...

चेतन आनंद : आख़िर में बैठ ही गया तन्हाइयों के साथ Chetan anand Hindi Ghazal: Aakhir mai baith hi gaya tanhaiyo ke saath

चेतन आनंद : आख़िर में बैठ ही गया तन्हाइयों के साथ

आख़िर में बैठ ही गया तन्हाइयों के साथ चलता भी कैसे वो भला परछांइयों के साथ।   मायूसियां मिलेंगीं तुझे, चाह छोड़ दे, सपना कभी रहा भी है सच्चाइयों के ...

Page 2 of 3 1 2 3

LATEST NEWS

Welcome Back!

Login to your account below

Create New Account!

Fill the forms below to register

Retrieve your password

Please enter your username or email address to reset your password.

Khash Rapat