ADVERTISEMENT

Tag: hindi gazal

दुष्यंत कुमार की हिंदी गजल: इस नदी की धार में ठंडी हवा आती तो है Dushyant kumar ghazal in hindi: Is Nadi ki dhaar mai thandi hawa aati to hai

दुष्यंत कुमार की हिंदी गजल: इस नदी की धार में ठंडी हवा आती तो है

इस नदी की धार में ठंडी हवा आती तो है नाव जर्जर ही सही, लहरों से टकराती तो है एक चिनगारी कहीं से ढूँढ लाओ दोस्तों इस दिए में तेल ...

जां निसार अख्तर की गजल: वो आँख अभी दिल की कहाँ बात करे है Hindi Gazal: Jaan Nisar Akhtar-Wo Aaankh Abhi Dil Ki Kaha Baat Kare Hai

जां निसार अख्तर की गजल: वो आँख अभी दिल की कहाँ बात करे है

वो आँख अभी दिल की कहाँ बात करे है कमबख़्त मिले है तो सवालात करे है वो लोग जो दीवाना-ए-आदाब-ए-वफ़ा थे इस दौर में तू उनकी कहाँ बात करे है ...

जां निसार अख्तर की गजल उजड़ी-उजड़ी हुई हर आस लगे Hindi Gazal : Jaan Nisar Akhtar Uzadi Uzadi Hui Har Aash Lage Hai

जां निसार अख्तर की गजल उजड़ी-उजड़ी हुई हर आस लगे

उजड़ी-उजड़ी हुई हर आस लगे ज़िन्दगी राम का बनबास लगे तू कि बहती हुई नदिया के समान तुझको देखूँ तो मुझे प्यास लगे फिर भी छूना उसे आसान नहीं इतनी ...

ज़िन्दगी तनहा सफ़र की रात है: जां निसार अख्तर Jaan Nishar Akhatr ki gajal Zindgi tanha safar ki raat hai

 ज़िन्दगी तनहा सफ़र की रात है: जां निसार अख्तर

ज़िन्दगी तनहा सफ़र की रात है अपने-अपने हौसले की बात है किस अक़ीदे की दुहाई दीजिए हर अक़ीदा आज बेऔक़ात है क्या पता पहुँचेंगे कब मंज़िल तलक घटते-बढ़ते फ़ासले का ...

Page 10 of 10 1 9 10

LATEST NEWS

Welcome Back!

Login to your account below

Create New Account!

Fill the forms below to register

Retrieve your password

Please enter your username or email address to reset your password.

Khash Rapat